No Widgets found in the Sidebar

अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपये में उतार- चढ़ाव और उच्च ट्रेजरी यील्ड की वजह से शुक्रवार को सोने की कीमत में गिरावट दर्ज की गई।इसका असर सेफ- हेवन मेटल की मांग पर पड़ा।24 कैरेट सोना  सबसे शुद्ध होता है. आम तौर पर ज्वेलरी बनाने के लिए 22 कैरेट सोने का इस्तेमाल किया जाता है, जिसमें 91.66 फीसदी सोना होता है.

पीली धातु मई के बाद सबसे बड़ी साप्ताहिक गिरावट की ओर अग्रसर है। कच्चे तेल की कीमत में गिरावट से रुपये को मजबूती मिली है। शेयर बाजार में गिरावट की वजह से रुपये की बढ़त सीमित रही।

22 कैरेट सोने की ज्वेलरी लेते हैं तो आपको पता होना चाहिए कि इसमें 22 कैरेट गोल्ड के साथ 2 कैरेट कोई और मेटल मिक्स किया गया है. ज्वेलरी में शुद्धता को लेकर हॉलमार्क से जुड़े 5 तरह के निशान होते हैं.

मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज पर सोना वायदा  करीब 0.10 फीसदी या 52 रुपये की गिरावट के साथ 50,934 रुपये प्रति 10 ग्राम पर कारोबार कर रहा था। इस बीच चांदी वायदा  0.21 फीसदी या 128 रुपये की गिरावट के साथ 61,399 रुपये प्रति किलोग्राम पर आ गई।

By admin