No Widgets found in the Sidebar

भारतीय बाजार भले ही शुक्रवार को भारी गिरावट के साथ बंद हुआ। वहीं, एशियाई बाजारों से संकेत नकारात्मक नजर आ रहे हैं। सोमवार को शुरुआती कारोबार में सभी प्रमुख एशियाई सूचकांक लाल निशान में कारोबार कर रहे थे।एलआईसी  के शेयरों में इस हफ्ते ज्यादा दबाव देखने को मिल सकता है। इसकी वजह यह है कि एंकर इनवेस्टर्स के लिए 30 दिन का लॉक-इन पीरियड सोमवार को खत्म हो रहा है।

LIC के शेयरों में पहले ही इसके इश्यू प्राइस से 25% से ज्यादा की गिरावट आ चुकी है।सोमवार को के शेयर बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) में 4 फीसदी से ज्यादा की गिरावट के साथ 677.45 रुपये के स्तर पर आ गए हैं। एलआईसी के शेयरों का इश्यू प्राइस 949 रुपये था।

एंकर इनवेस्टर्स ने LIC का आईपीओ ओपन होने से एक दिन पहले ही बीमा कंपनी के करीब 5.93 करोड़ शेयर खरीदे थे। एंकर इनवेस्टर्स सोमवार, 13 जून 2022 से एलआईसी के शेयर ओपन मार्केट में बेच सकते हैं।

इसके अलावा, जापानी निक्केई 225, हांगकांग एक्सचेंज में हैंग सेंग इंडेक्स और चीनी शंघाई कंपोजिट में क्रमशः 2.8%, 2.9% और 1.4% की गिरावट आई। इससे पहले शुक्रवार को रिकॉर्ड महंगाई को देखते हुए अमेरिकी बाजार लाल निशान में बंद हुआ था। डॉव जोंस 2.7%, नैस्डैक 3.5% और S&P500 2.9% गिरकर बंद हुए।

By admin