No Widgets found in the Sidebar

योगगुरू बाबा रामदेव लोकी के जूस को स्वास्थ्य के लिए भले ही कितना बेहतर मानते हों लेकिन हरियाणा स्वास्थ्य विभाग ऐसा नहीं मानता। विभाग ने जनसाधारण को लौकी जूस के उपयोग में सावधानी बरतने की सलाह दी है। महानिदेशक, स्वास्थ्य सेवाएं, डॉ. नरवीर सिंह ने आज इस संबन्ध में जानकारी देते हुए बताया कि भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद ने इस संबन्ध में रिपोर्ट जारी की है।

लौकी में विटामिन सी समेत कई पोषक तत्व पाएं जाते हैं. ये आपके चेहरे पर समय से पहले आने वाली झुर्रियों को कम करता है. इसके अलावा फाइन लाइंस को कम करता है. आप इस जूस का इस्तेमाल चेहरे और गर्दन पर कर सकते हैं.

इस रिपोर्ट में कहा गया है कि राज्य के रजिस्टर्ड मैडिकल प्रैक्टीशनर्स को भी इस बारे में सूचित किया जाना चाहिए। यही नहीं चिकित्सकों के लिए लौकी विषाक्तता के मामलों में उपचार के लिए प्रोफार्मा भी भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद की वेबसाईट पर उपलब्ध करवाया गया है।

लौकी के जूस में एंटीऑक्सीडेंट, मिनरल्स और विटामिन्स पाए जाते हैं. इसके साथ ही पाचन तंत्र मजबूत होता है. रोजाना सुबह खाली पेट एक गिलास लौकी का जूस पीना सेहत के लिए फायदेमंद होता है. ये आपकी त्वचा में निखार लाने में मदद करता है.

अगर आप सूजी आंखों की समस्या से परेशान हैं तो आंखों पर लौकी की स्लाइस लगाकर रखें. कुछ देर में आपको आराम मिल जाएगा. इससे आपकी सूजी हुई भी नजर नहीं आएगी. साथ ही आंखों को ठंडक और राहत पहुंचाता है.

By admin