No Widgets found in the Sidebar

अक्सर ऐसा होता है कि हमारे हाथों में जो भी मॉइश्चराइजर आता है।  जिसकी वजह से स्किन पर ब्लेमिशेज, पिंपल्स जैसी प्रॉब्लम्स हो जाती हैं। हेल्दी स्किन के लिए मॉइश्चराइजर एक बेसिक जरूरत है।
यह हमारी स्किन के अकॉर्डिंग ही हो। ऑयली स्किन सबसे ज्यादा सेंसिटिव होती है और कई बार प्रॉब्लेमैटिक भी हो जाती है। इसलिए इस स्किन के लिए बहुत ही केयरफुली मॉइश्चराइजर का सेलेक्शन करना चाहिए, अक्सर हम इसे अवॉइड कर देते हैं।
ऑयली स्किन के लिए सिर्फ वॉटर बेस्ड या जेल बेस्ड मॉइश्चराइजर ही सिलेक्ट करने चाहिए। ये स्किन नेचुरली ऑयल सेक्रीट करती है इसलिए इस टाइप की स्किन के लिए ऑयली मॉइश्चराइजर अवॉइड करना चाहिए।नॉर्मल स्किन बहुत ही क्लीन और क्लीयर टेक्सचर वाली होती है और ये प्रॉब्लेमैटिक भी नहीं होती है।
ड्राई स्किन में पहले से ही मॉइश्चर की कमी होती है, जिसकी वजह से अक्सर स्किन बहुत स्ट्रेच भी करती है। इस स्किन की अगर प्रॉपर केयर न की जाए तो इसमें क्रैक्स भी पडऩे लगते हैं।
साथ ही इसमें रिंकल्स भी जल्दी पड़ते हैं। इस स्किन के लिए ऑयल बेस्ड मॉइश्चराइजर्स परफेक्ट रहते हैं क्योंकि ये उतनी ही मॉइश्चर प्रोवाइड करते हैं, जितनी स्किन को जरूरत होती है। अगर स्किन ज्यादा ड्राई हो तो रेग्युलर इंटरवल्स में मॉइश्चराइजर यूज करें।

By admin