No Widgets found in the Sidebar

साल का पहला चक्रवात दक्षिण-पूर्वी बंगाल की खाड़ी के ऊपर बना हुआ है। अंडमान और निकोबार द्वीपसमूह में भारी बारिश होने की आशंका है।इससे पहले 2020 में अम्फान तूफान ने पश्चिम बंगाल और फिर 2021 में यास तूफान ने ओडिशा को प्रभावित किया था।

इस दौरान कई राज्यों में 45 से 75 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से हवाएं चलने की आशंका है। वहीं तूफान के कारण कई जगहों पर भारी बारिश की भी संभावना बन रही है।

रविवार तक अंडमान और निकोबार द्वीपसमूह पर 65 से 75 किमी प्रति घंटे की तेज हवाओं के साथ एक दबाव में बदल जाएगा। आइएमडी के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्रा ने कहा कि आगामी सोमवार को चक्रवाती तूफान दस्तक दे सकता है।

भारतीय मौसम विभाग के वैज्ञानिकों के मुताबिक, दक्षिण अंडमान सागर के ऊपर कम दबाव वाला क्षेत्र बना हुआ है, जो अगले 24 घंटों में चक्रवाती तूफान में बदलकर भारत के पूर्वी तट की ओर बढ़ सकता है।

By admin